Krishna Tower, Heera Nagar Mode, Ajmer Rd, DCM, Jaipur
infonicsolutions@gmail.com+91-8306599033

PHP क्या है , हिंदी में जानकारी

PHP क्या है , हिंदी में जानकारी

HELLO STUDENTS

आज में आपको PHP की पूरी Knowledge देने वाला हु उसकी पूरी History बताने वाला हु तो आइये Students  हम PHP के बारे में जानते है –

PHP का पूरा नाम HyperText Preprocsser  है| PHP एक Server Site Scripting Language है| PHP का Use हम बहुत बड़ी-बड़ी Websites में  लेते है| और ये इंटरनेट की दुनिया में बहुत ज्यादा Popular Language है|  PHP 1995 में आयी थी इसका निर्माण Rasmos Lerdorf ने किया था | फिर उसके बाद PHP 1998 में फिर Release हुई तब उसका नाम HyperText Preprocsser हो गया  था | इसका निर्माण  Zeev Suraski और Andi Gutmans ने किया था |

जैसे – Facebook भी PHP से ही बनी हुई है| और आप सब लोग जानते है Facebook कितनी बड़ी Website है| तो हम कुछ भी PHP के द्वारा बना सकते है |

PHP से आप एक ऐसी Website बना सकते है जिसमे आप कुछ भी कर सकते हो आप अपनी मन पसंद के Layout  डाल सकते हो। PHP से सब कुछ होना possible  हो सकता है क्यों की ये बहुत ही अच्छी Server Site Scripting Language है| तो स्टूडेंट्स आप इसे बहुत हीअच्छा Tool बोल सकते है क्यों की ये एक वो साधन है जिस से हम Website को Static और Dynamic का रूप देने के लिए |

  • PHP एक Object Oriented Language है |
  • PHP एक Open Source Scripting Language है|
  • PHP एक Interpreted Language है|
  • PHP एक Server-sided Scripting Language है|
  • PHP Server-sided Scripting Language इसीलिए ये एक आसान Language है|
  • PHP Offline Server पर भी Work करता है | जैसे – Xampp , Wampp etc.
  • Data Base के साथ ही Support करता है PHP

और अगर आपको Better PHP सीखनी है तो उसके लिए आपका C Language का आना जरूरी है क्यों की PHP का Basic C ही है | तो आप C language के माध्यम से PHP जल्दी सिख जायेगे  |

Website Develop karne ke liye 2 type ke kaam hote hai –

1.Frontend(Design)

2.BackEnd(Development ya process part)

Frontend का मतलब ये होता है की  हमारी Website का Frontend काम कैसे कर रहा है | क्यों की Frontend काम जैसे Photoshop , Html , CSS , Web Pages  ये सब काम Frontend में दीखता है | क्यों की इन सब की Design ही  Frontend में  दिखती है | Frontend Client Side होता है और इसको हम Web Design  भी बोल सकते है | और दोनों को हम एक नाम से भी बुला सकते है | frontend Side वाला आपकी Static Sites बनाता है |

Server Side का मतलब होता है Backend | इसके अंदर PHP , Mysql , Database , Phython  ये सब चीजे  आती है | ये सारी Language Server Side  में आती है | ये सारी Language Browser  पर नहीं  चलती है ये सिर्फ Server पर Run होती है | और Students Backend  का मतलब होता है Website  के पीछे होने वाला काम |  वो काम जो हो तो रहा है पर सामने वाले को पता नई चलता की वो कैसे हो रहा है तो ये सब काम Backend का होता है | Backend बनाने वाले Developer Dynamic Website बनाते है | और Dynamic Website  का मतलब है की जिसका Content बार – बार Change हो रहा हो | जैसे – Google , Facebook , Twitter etc.

Backend  पर काम करने वाले ज्यादा PHP या .net पर काम करना आना चहिये | उनको HTML या CSS आना इतना Important नहीं होता है |  ये ही PHP होती है |

 


MASTERS IN DIGITAL MARKETING

For Professional & Job Seeker

Learn how to market a business online just like experts & agencies do it.
Learn form real practitioners not just trainers


Infonic Training & Development Center



About the author

Infonic