वेब होस्टिंग क्या है? वेब होस्टिंग कितने प्रकार की होती है

वेब होस्टिंग क्या है? वेब होस्टिंग कितने प्रकार की होती है

वेब होस्टिंग क्या है? वेब होस्टिंग कितने प्रकार की होती है – अगर आप अपनी खुद की ब्लॉग या वेबसाइट बनाने की सोच रहे हैं। या फिर आप ब्लॉगिंग में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं। सबसे पहले ब्लॉगिंग के रिलेटेड सभी जानकारी होना बहुत ही जरूरी है। ब्लॉगिंग क्या होती है इसके बारे में हमने आपको पिछले आर्टिकल में बता चुके हैं। आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताने वाले हैं कि वेब होस्टिंग क्या है? वेब होस्टिंग कितने प्रकार की होती है

अगर आप ब्लॉगिंग स्टार्ट करने जा रहे हैं। ब्लॉगिंग स्टार्ट करने के लिए आपको एक वेबसाइट की आवश्यकता होगी। वेबसाइट को बनाने के लिए आपको डोमेन और वेब होस्टिंग की आवश्यकता होती है। अगर आपके पास यह दो चीजें नहीं है तो आप ब्लॉग या वेबसाइट नहीं बना सकते हैं। इसीलिए आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से वेब होस्टिंग के बारे में जानकारी देंगे। क्योंकि एक अच्छी वेब होस्टिंग आपके वेबसाइट के लिए बहुत ही जरूरी है।

आगे अब हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से वेब होस्टिंग क्या है? वेब होस्टिंग कितने प्रकार की होती है इसके बारे में हम आपको संपूर्ण जानकारी विस्तार से देते हैं।

वेब होस्टिंग क्या है

वेब होस्टिंग एक प्रकार का वेब सर्वर होता है। जहां पर हमारे वेबसाइट का डाटा स्टोर होता है। हम अपने वेबसाइट पर जो भी डाटा अपलोड करते हैं जैसे कि फोटो वीडियो टेक्स्ट कंटेंट फाइल यह सभी डाटा वेब सर्वर पर अपलोड होता है। जिसकी मदद से हम अपनी वेबसाइट को 24 घंटे लाइव कर सकते हैं।

वेब होस्टिंग एक ऐसा पावरफुल सर्वर होता है जो इंटरनेट की मदद से 24 घंटे लाइव रहता है। यही वजह होती है कि हमारी वेबसाइट 24 घंटे एक्टिव रहती हैं। इसीलिए हमारे वेबसाइट के लिए एक अच्छी वेब होस्टिंग का होना बहुत ही जरूरी है। हमें अपनी वेबसाइट के लिए ऐसे पावरफुल वेब होस्टिंग सर्वर की आवश्यकता होती है जो 24 घंटे हमें अच्छी सर्विस दे सकें।

वेब होस्टिंग कितने प्रकार की होती है

एक अच्छी वेब होस्टिंग हमारी वेबसाइट के लिए बहुत ही जरूरी होती है। क्योंकि हम अपनी वेबसाइट पर जितने भी मेहनत कर ले अगर हमारी वेब होस्टिंग अच्छी नहीं है। तो इसका हमारे वेबसाइट पर बहुत गलत इफेक्ट पड़ता है। इसलिए आपको हरदम अपनी वेबसाइट के लिए एक अच्छी वेब होस्टिंग का चुनाव सही सोच समझ कर करना चाहिए। इसीलिए अब हम आपको बताते हैं कि वेब होस्टिंग कितने प्रकार की होती है। जिससे कि आप बहुत ही आसानी से अंदाजा लगा सकते हैं कि आपके लिए कौन सी वेब होस्टिंग सही रहेगी।

वेब होस्टिंग मूलता चार प्रकार की होती है।

1 – Shared Hosting
2 – Dedicated Hosting
3 – VPS Hosting
4 – Cloud Hosting

आइए अब हम आपको इन सभी चारों हुए होस्टिंग के बारे में थोड़ी विस्तार से जानकारी देते हैं। जिससे कि आप बहुत ही आसानी से इन सभी में होस्टिंग का क्या यूज होता है आप बहुत ही आसानी से समझ जाएंगे।

1 – Shared Hosting

अगर आप ब्लॉगिंग में न्यू है तो आपके वेबसाइट के लिए शेयर्ड होस्टिंग सबसे बेस्ट रहती है। शेयर्ड होस्टिंग में एक की सरवर में बहुत सारी वेबसाइट Host होती हैं। यही वजह है कि शेयर्ड होस्टिंग आपको बहुत ही कम प्राइस में मिल जाती हैं।

शेयर्ड वेब होस्टिंग में आप बहुत ही कम ट्रैफिक को इस्तेमाल कर सकते हैं। अगर आप की वेबसाइट पर अधिक ट्रैफिक आ जाता है तो आपकी वेबसाइट डाउन भी हो जाती हैं। इसके अलावा शेयर्ड वेब होस्टिंग में कभी-कभी आपको सरवर का प्रॉब्लम फेस करना पड़ सकता है। इसीलिए शेयर्ड वेब होस्टिंग बहुत ही कम लोग यूज़ करते हैं।

अगर आप ब्लॉगिंग में न्यू है तो आप सीखने के लिए शेयर्ड वेब होस्टिंग ले सकते हैं। और जैसे बाद में आपके वेबसाइट पर अच्छा खासा ट्रैफिक आने लगे। तो आप अपनी वेबसाइट के लिए एक अच्छी वेब होस्टिंग में ट्रांसफर कर सकते हैं।

2 – Dedicated Hosting

अगर आपके वेबसाइट पर अच्छा खासा ट्रैफिक आता है तो आपके लिए डेडीकेटेड होस्टिंग सबसे बेस्ट है। क्योंकि डेडीकेटेड वेब होस्टिंग में आपकी वेबसाइट की स्पीड बहुत अच्छी होती है। और इसका सर्वर बहुत ही कम Slow होता है। डेडीकेटेड वेब होस्टिंग सर्वर में केवल आपकी ही वेबसाइट Host होती है। और इस सर्वर में आपका पूरा कंट्रोल होता है।

डेडीकेटेड होस्टिंग थोड़ी सी महंगी आती है। अगर आप की वेबसाइट पर अच्छा ट्रैफिक आता है तो ही आप इस डेडीकेट होस्टिंग का यूज करें। इस वेब होस्टिंग का सबसे बड़ा बेनिफिट यह है कि आपकी वेबसाइट पर बहुत अधिक ट्रैफिक आने पर भी आपकी वेबसाइट कभी डाउन नहीं होगी।

3 – VPS Hosting

वीपीएस वेब होस्टिंग डेडीकेटेड होस्टिंग और शेयर्ड होस्टिंग का कंबाइंड वेब होस्टिंग होती है। इस वेब होस्टिंग में आपको शेयर्ड वेब होस्टिंग के अपेक्षा अधिक Bandwidth , Stroge Computing और अधिक Space मिलता है। इस वजह से इस वेब होस्टिंग में आपकी वेबसाइट का वेबसाइट लोडिंग और पेज लोडिंग थोड़ा अधिक हो जाता है।

वीपीएस वेब होस्टिंग का प्राइस आपके बजट में होता है। अगर आप चाहते हैं कि आपकी वेबसाइट Slow ना हो। और आपकी वेबसाइट पर थोड़ा बहुत ट्रैफिक आने पर आपकी वेबसाइट डाउन ना हो तो आपके लिए वीपीएस वेब होस्टिंग सही है।

4 – Cloud Hosting

क्लाउड वेब होस्टिंग सर्वर बहुत अधिक सारे सर्वर से मिलकर बनता है। क्लाउड होस्टिंग सर्वर में अगर एक सर्वर डाउन होता है तो आपकी वेबसाइट तुरंत दूसरे सर्वर पर ऑटोमेटिक Host हो जाती है। जिसकी वजह से आपकी वेबसाइट कभी भी स्लो और डाउन नहीं होती है।

अगर आपके वेबसाइट पर बहुत अधिक ट्रैफिक आता है। मान लीजिए कि आप वेबसाइट पर प्रतिदिन 10000 से ज्यादा ट्रैफिक आता है। तो आपके लिए क्लाउड वेब होस्टिंग एक अच्छा ऑप्शन है। क्योंकि अगर आप डेडीकेटेड वेब होस्टिंग और वीपीएस वेवहोस्टिंग लेते हैं तो यहां पर आपको लिमिटेशन मिलती है। जिसकी वजह से आपकी वेबसाइट पर थोड़ा सा भी अगर अधिक ट्रैफिक आता है तो आपकी वेबसाइट तुरंत डाउन हो जाएगी।

वहीं अगर आप क्लाउड वेब होस्टिंग परचेज करते हैं। यहां पर आप अपनी वेबसाइट पर आने वाले अनलिमिटेड ट्रैफिक को आसानी से हैंडल कर सकते हैं। यही कारण है कि क्लाउड वेब होस्टिंग बहुत अधिक महंगी होती है। अगर आपके वेबसाइट पर बहुत अधिक ट्रैफिक आता है तो ही आप क्लाउड वेब होस्टिंग परचेज करें।

वेब होस्टिंग के फीचर्स

अगर आप अपनी वेबसाइट के लिए एक अच्छी वेब होस्टिंग परचेज करते हैं इसके लिए सबसे पहले आपको वेब होस्टिंग कि कुछ जरूरी फीचर्स के बारे में नॉलेज होना बहुत ही जरूरी है। जब आपको वेब होस्टिंग के फीचर्स के बारे में जानकारी हो जाती है तो आप बहुत ही आसानी से अपनी वेबसाइट के लिए एक अच्छी वेब होस्टिंग का चुनाव कर सकते हैं।

Bandwidth – आपकी वेबसाइट की स्पीड के लिए बैंडविथ एक बहुत ही अहम रोल निभाता। अगर आपकी वेब होस्टिंग की बैंडविथ अच्छी है तो आपकी वेबसाइट पर आने वाले यूज़र बहुत ही आसानी से आपकी वेबसाइट को एक्सेस कर सकते हैं। यहीं पर अगर आपकी वेब होस्टिंग की बैंडविथ कम है तो आपकी वेबसाइट की स्पीड लोडिंग कम हो जाती है। इसीलिए आप हरदम वेब होस्टिंग खरीद के समय बैंडविथ का ख्याल अवश्य रखें।

Uptime – आपकी वेबसाइट के लिए एक अच्छा Uptime का होना बहुत ही जरूरी है। आप टाइम की वजह से आपकी वेबसाइट बहुत जल्दी से ओपन होती है। इसीलिए जब आप कोई वेब होस्टिंग परचेज करें तो वहां पर आप Uptime का ध्यान अवश्य दें।

Storage – आपकी वेबसाइट के लिए अधिक स्टोरेज का होना बहुत जरूरी है। क्योंकि आप अपनी वेबसाइट पर जो डाटा अपलोड करते हैं वह सभी डाटा स्टोरेज में ही अपलोड होता है। इसलिए आप हरदम जिस वेब होस्टिंग में अधिक Storage हो आप उसी को ही परचेज करें।

Backup – आपकी वेबसाइट के लिए पक्का बहुत ही जरूरी होता है। क्योंकि अगर आपकी वेबसाइट कभी Hack होती है या फिर उसका कोई फाइल डिलीट होती है। तो यहां पर आपकी वेबसाइट का बैकअप बहुत ही काम आता है। इसलिए आप जिस वेब होस्टिंग कंपनी से वेब होस्टिंग परचेज करें वहां पर बात का जरूर ध्यान दें कि वह कंपनी आपको बैकअप सुविधा दे रही है कि नहीं।

Customer Support – वेब होस्टिंग परचेज करते समय आपको इस बात का बहुत ही ख्याल देना है। आप जिस कंपनी का वेब होस्टिंग परचेज कर रहे हैं उस कंपनी के कस्टमर सपोर्ट सुविधा कैसी है । क्योंकि जब आपके वेब होस्टिंग या वेबसाइट पर कुछ प्रॉब्लम होगी तो आपको कस्टमर सपोर्ट से ही बात करके ही उस प्रॉब्लम का सलूशन निकाल सकते हैं। इसलिए आप वेब होस्टिंग परचेज करते समय उस कंपनी के कस्टमर सपोर्ट के बारे में अच्छे से जानकारी जरूर प्राप्त कर लें।

वेब होस्टिंग कहां से परचेज करें

वेब होस्टिंग कहां से परचेज करें यह एक ऐसा सवाल है जो हर एक यूजर के मन में होता है। मार्केट में वैसे तो बहुत सारी वेब होस्टिंग कंपनियां उपलब्ध है। इसलिए हमारे लिए यह डिसाइड करना बहुत ही कठिन हो जाता है कि हमारे लिए कौन सी वेब होस्टिंग सही रहेगी।

हमें अपनी वेबसाइट के लिए कौन सी वेब होस्टिंग लेनी चाहिए। इसके लिए हम आपके लिए एक अलग से सेपरेट आर्टिकल लिख देंगे। उस आर्टिकल की मदद से आप बहुत ही आसानी से डिसाइड कर सकते हैं कि आपके लिए किस कंपनी की वेब होस्टिंग सबसे बेस्ट रहेगी।

निष्कर्ष

दोस्तों हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से वेब होस्टिंग क्या है? वेब होस्टिंग कितने प्रकार की होती है। इसके बारे में हमने आपको संपूर्ण जानकारी विस्तार से दी है। आशा करता हूं कि आपको यह आर्टिकल पढ़ने के बाद वेब होस्टिंग रिलेटेड पूरी जानकारी आपको मिल गई होगी।

Browse Related Pages

Learn with Our Digital Marketing Videos
Our Reviews
Related Course
Recent Post
Best Digital Marketing Training in Jaipur, Batch start from 15th April, 2021